Tulsi vivah katha shayari

Tulsi vivah katha

सबसे सुन्दर वो नज़ारा होगा
दीवारों पर दीयों की माला होगी
हर आँगन में तुलसी माँ विराजेगी!
और माँ तुलसी का विवाह होगा
शुभ तुलसी विवाह !!

उठो देव हमारे, उठो इष्ट हमारे
खुशियों से आंगन भर दो जितने
मित्र-गण रहे सुख-दुख में सहारे
सभी को देवउठनी एकादशी की
हार्दिक शुभकामनाएं !!

गन्ने के मंडप सजायेंगे हम
विष्णु- तुलसी का विवाह
रचाएंगे हम आप भी होना
खुशियों में शामिल तुलसी का
विवाह मिलकर कराएंगे हम
तुलसी विवाह की शुभकामनाएं !!

हर घर के आँगन में तुलस!
तुलसी बड़ी महान है
जिस घर में ये तुलसी रहती!
वो घर स्वर्ग सामान है
तुलसी विवाह की शुभकामन !!

माना कि पुरुष बलशाली हैं!
पर जीतती हमेशा नारी है
सांवरियां के छप्पन भोग पर
सिर्फ एक तुलसी भारी है!!

उठो देव हमारे उठो इष्ट हमारे!
खुशियों से आंगन भर दो जितने
मित्र-गण रहे सुख-दुख में सहारे
सभी को देवउठनी एकादशी की
हार्दिक शुभकामनाएं !!

देवउठनी एकादशी के शुभ
अवसर पर भगवान विष्णु
आपकी सभी मनोकामनायें
पूरी करें देवउठनी एकादशी
की हार्दिक शुभकामनाएं।!

गन्ने के मंडप सजायेंगे हम!
विष्णु- तुलसी का विवाह रचाएंगे हम
आप भी होना खुशियों में शामिल
तुलसी का विवाह मिलकर कराएंगे हम
तुलसी विवाह की शुभकामनाएं!!

सबसे सुन्दर वो नज़ारा होगा!
दीवारों पर दीयों की माला होगी
हर आँगन में तुलसी माँ विराजेगी
और माँ तुलसी का विवाह होगा
शुभ तुलसी विवाह!!

मंडप सजा है अब तुलसी विवाह रचाएंगे!
आप भी होना शामिल! हम सब मिलकर
तुलसी का विवाह कराएंगे
तुलसी विवाह की शुभकामनाएं!!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top